टेस्टिंग / 41% अप्रवासी आबादी वाला कनाडा प्रोडक्ट टेस्ट करने के लिए टेक्नोलॉजी कंपनियों का पसंदीदा जगह

बीएसएनएल / ने लॉन्च किया सस्ता प्लान, सिर्फ 56 रुपए में मिलेंगी ये सुविधाएं
May 16, 2019
लंदन / टेक प्रदर्शनी में दिखाया कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस इंसानों की मदद किस तरह कर सकेगी
May 17, 2019

टेस्टिंग / 41% अप्रवासी आबादी वाला कनाडा प्रोडक्ट टेस्ट करने के लिए टेक्नोलॉजी कंपनियों का पसंदीदा जगह

  • टेक्नोलॉजी कंपनियां ग्लोबल लॉन्चिंग से पहले कनाडा में अपने प्रोडक्ट की टेस्टिंग करती हैं
  • कनाडा के ज्यादातर लोग अमेरिकी बॉर्डर से 150-200 किलोमीटर की रेंज में रहते हैं
  • गैजेट डेस्क. फेसबुक की स्वामित्व वाला सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम कुछ बड़े बदलाव करने जा रहा है। इसकी योजना है कि प्लेटफॉर्म पर होने वाले पोस्ट या वीडियो के लाइक सिर्फ उसी को दिखे जिसने इसे डाला है। ऐसा इसलिए किया जा रहा है कि यूजर कंटेंट की ओर आकर्षित हों न कि उस पर आने वाले लाइक पर। कंपनी इस फीचर की ग्लोबल लॉन्चिंग से पहले इसे कनाडा में टेस्ट कर रही है। फेसबुक ने इससे पहले अपने डेटिंग फीचर फेसबुक डेटिंग की टेस्टिंग भी कनाडा में ही की थी।

    कनाडा में बोली जाती है 200 भाषाएं
    फेसबुक इकलौती कंपनी नहीं है जो अपने किसी प्रोडक्ट को पहले कनाडा में टेस्ट करती है और उसके नतीजों के आधार पर ग्लोबल लॉन्चिंग करती है। कई अन्य सोशल मीडिया साइट्स, गेमिंग कंपनी और घरेलू उपकरण बनाने वाली कंपनियां भी ऐसा कर रही हैं। इस ट्रेंड के पीछे बड़ी वजह यह है कि कनाडा में कंपनियों को पूरी दुनिया की पसंद-नापसंद का अंदाजा चल जाता है। कनाडा विकसित देशों में सबसे विविधता वाला देश है।

    यहां की 41% आबादी ऐसे लोगों की है जो या तो खुद किसी अन्य देश से आए हैं, या उनके माता-पिता में से कोई एक दूसरे देश से आए हैं। अप्रवासियों की इतनी बड़ी संख्या के कारण कनाडा में 200 के करीब भाषाएं बोली जाती हैं। यहां दुनिया में पाई जाने वाली हर नस्ल और धर्म के लोग बसते हैं। इस वजह से कंपनियां यहां के मार्केट से अंदाजा लगा पाती हैं कि किस देश में उनके प्रोडक्ट या फीचर को लेकर कैसा रेस्पॉन्स रह सकता है।

    कई बड़े एप डेवलपर भी ग्लोबल लॉन्चिंग से पहले कनाडा में टेस्ट रन चलाते हैं। एक गेमिंग कंपनी के एक्जीक्यूटिव ने इस बारे में बताया, कनाडा में जो डेटा आपको मिलता है वह अमेरिका, ब्रिटेन जैसे मार्केट की तुलना में ज्यादा विश्वसनीय होता है।’ विविधता के साथ-साथ कनाडा की एक और बड़ी खासियत इसका विकसित देश होना भी है। फेसबुक के मुताबिक कनाडा के लोग पढ़े-लिखे और टेक्नोलॉजी के प्रति उत्साही होते हैं। अगर वे किसी फीचर या प्रोडक्ट को पसंद करते हैं तो उम्मीद होती है कि यह बाकी देशों के लोगों को भी पसंद आएगी।

    अमेरिका से नजदीक होने का भी फायदा मिलता है
    कनाडा के ज्यादातर लोग अमेरिकी बॉर्डर से 150-200 किलोमीटर की रेंज में रहते हैं। भले ही वे किसी भी देश से यहां आए हों उनके खान-पान, पहनावे, फिल्म-संगीत आदि की पसंद पर अमेरिका का प्रभाव रहता है। इसलिए अगर कोई प्रोडक्ट अमेरिका को ध्यान में रखकर भी बनाया जाता है तो पहले उसे कनाडा में टेस्ट किया जाता है। यहां सफलता मिलने पर अमेरिका में भी उसके सफल होने की उम्मीद ज्यादा होती है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    WhatsApp chat